Skip to main content

Posts

Showing posts from October, 2019

भाई- बहन की प्रेम कहानी दिन छूने वाली

      भाई-बहन की प्रेम कहानी दिल छूने वाली  एक परिवार में पति-पत्नी और उसके चार लड़किया ओर एक लड़का था। वो बहुत खुश थे लेकिन उसके पिता एक साथिर बेकार जो लोगो का मर्डर लूट मार करता था उसके घर पर काम करता था। एक दिन जब उसकी पत्नी के चौथी लड़की का जन्म हुआ तो डॉक्टर ने बोला कि माँ बेटी दोनो को खतरा हैं। तो तुम जल्दी से पैसों का इंतजाम करो पिता बहुत परेशान था और उस व्यक्ति के पास गया जा वो काम करता था लेकिन उस व्यक्ति ने उसी टाइम एक मर्डर किया और उसी टाइम उस पिता का आना हुआ उसने सब देख लिया लेकिन उदार से पुलिस आ रही थी तो उस व्यक्ति ने उस पिता को बोला कि तू जितना चाहिए पैसा ले ले पर यह मर्डर अपने ऊपर ले ले पिता सोचा कि अपनी पत्नी का जिंदगी की बात हैं। तो उसी समय पुलिस आ गई और उस पिता ने कबूल कर लिया कि ये मर्डर मैने किया और पुलिस उस पिता को ले गई और वो साथिर डाकू उस महिला के लिए एक पैसा  भी नही दिया ओर उसकी कुछ समय में मौत हो गई लेकिन उसकी लड़की जिंदा बच गई     भाई-बहन का प्रेम और पिता के प्रति गुस्सा क्योकि उस लड़के पता नही था कि उसका पिता उसकी माँ के लिए यह किया क्योंकि वो पिता बेकसूर होते हु

माँ बेटे की दिल छूने वाली कहानी

       माँ बेटे की दिल छूने वाली कहानी एक परिवार में तीन सदस्य थे पति पत्नी और उनका लड़का वो बहुत ही खुश थे लड़के के पिता प्राइवेट काम करते थे और बस तीनो बहुत खुश थे। और एक साथ मिल झूल के रहते थे। लड़के की उम्र 10 साल थी । जब भी रविवार होता था उस दिन लड़के के पिता की अपनी ऑफिस की छूटी रहती थी। तो वो रविवार को गुमने चले जाते थे।  ओर खूब एन्जॉय करते थे। लेकिन एक दिन इतनी बुरी घटना हुई कि जब वह संडे को घूमने गए हुवे तो बाईक के सवार थे और अचानक उनके एक गाड़ी से टकर हो गई ओर अचानक दुर्घटना के कारण उसके पिता को ICU  में भर्ती कराया गया लेकिन दो दिन में ही उनकी मौत हो गई और उसके लड़के की आँखे चली गई थी। और पत्नी अपने पैरों से अपंग हो गई  जो परिवार इतना हस्ता खेलता था वो एक दिन में ही उजड़ गया था। लेकिन उस लड़के ने अभी तक कुछ नही देखा और नही ही कुछ किया था जो अपनी आँखें खो बैठा था।          माँ का बेटे के प्रति प्यार जो दिन को छू जाएगा जब लड़के की उम्र बढ़ती जा रही थी तो वो रोज बोलता था कि माँ में भी कभी इस दुनिया को पहले की तरह देख पाऊंगा क्या माँ का जवाब हा बेटा तू इस दुनिया को फिर से देख पायेगा पर मा

पति-पत्नी का रिश्ता कैसा होना चाहिये

       पति-पत्नी का रिश्ता कैसा होना चाहिये प्राचीन काल में पति पत्नी का रिश्ता बहुत पवित्र माना जाता था। माना क्या बहुत अच्छा होता था।  जब उनके सात फेरे होने के सात ही जिंदगी भर का साथ देने का वचन लेते हैं। वचन तो अभी भी लेते हैं पर वो रिश्ता नहीं हैं। हम भी देखते है बडे बुजुर्ग कितने प्यार से रहते हैं वो कितने भी क्यो नही झगड़ ले पर कुछ ही समय में वो प्यार से एक दुसरो को जी लगा के पुकारते कुछ लोग नही मानते पर मेरे ही दादा -दादी जी में बहुत प्यार था हा वो झड़ते भी थे। पर कुछ समय में फिर से खुश हो जाते थे। पर आज वो दोनों ही इस पावन धरा पर नही है। लेकिन आज कल की जनर्सन ऐसी जो गई है जिससे पति पत्नी का रिश्ता नही समझता ओर पत्नी पति का क्योकि आज हमारे देश में लड़के लड़किया पहले प्यार के चक्कर में एक दूसरे से बहुत खुश रहते हैं।  पति-पत्नी में रिश्ता क्यो टूट जाता हैं आज के इस युग मे क्योकि आज कल के लड़के लड़किया कॉलेजो स्कूलो में जाते हैं और बस वहा प्यार के चक्कर में पड़ जाते है जिससे वो अपनी पढ़ाई तो खराब करते ही है और सपने माँ बाप का नाम भी खराब कर बैठते है। क्योकि कई लड़के लड़कियां अपने माँ बाप के

बुरी संगति के दोस्तो से कैसे बचें

         बुरी संगति के दोस्तो से कैसे बचें  आज हमारे देश में ऐसी हालत हो गई हैं कि कोई किसी की नही सुनता हैं सब अपने मन की करते है जो जैसा चाहाता है वेसे करता है अपने मन की करता है किसी से कोई सलाह नही लेता है। आज कल के लड़के -लड़किया ऐसे हो गये है जो अपने परिवार के पडे लोगो की क्या अपने माँ-बाप की भी नही सुनते हैं जो मन मे झचती है वैसा करते है। ओर अंत में दुःख पाते है। क्योंकि उनको जब अपने बड़े बुजुर्ग बोलते है तो कुछ समझ नही आता हैं। लेकिन जब वो किसी बात से ठोकर खाते हैं तो तब उनकी अकल ठिकाने आती हैं कि अपने माता पिता हमे सही बोलते थे। यदि हम उनकी बात शुरू से मान लेते तो आज यह दिन नही देखना पड़ता पर वही बात हैं। जब माँ बाप अपने बच्चे को समझाते हैं तो उनके जवानी का खून उबलता हैं और अपने माँ बाप की नही सुनते ही वो समझतें भी हैं कि बेटा ये गलत काम हैं। ओर जो उसके दोस्त बुरी संगति में के होते है तो माँ बाप समझाते भी है कि बेटा उसे बुरी आदतों वाले दोस्तो का साथ छोड़ दो पर वो बचपना जवानी का जोश से वो अपने मात पिता की बात नही मानते है और बुरी संगति के कारण अपनी जिंदगी खराब कर बैठते हैं। लेकिन जब

भारत देश मे राजस्थान राज्ये में तम्बाकू पे रोक

भारत देश में राजस्थान राज्ये में तम्बाकू पे रोक राजस्थान राज्ये में 2 अक्टूबर को तम्बाकू, गुटखा पे रोक लग गई है लेकिन आज के कुछ साल बाद भी तम्बाकू पे रोक लगाई गई थी लेकिन कुछ दिन तक रही थी। ओर आज फिर से वोही हो रहा हैं। सरकार ने फिर से रोक लगाई लेकिन राज्ये के कई जिलों में अभी भी गुटखे वैसे ही बिक्री हो रहे है। जब रोक से पहले बिक्री हो रहे थे। क्योकि आज हमारे देश में 50% लोगों के कैंसर हो जाता है इसका कारण हैं। गुटखे, बीड़ी, जर्दा के सुपारी भी है जिससे लोगो के लंबे टाइम तक खाने से फिर फिर शरीर में गतांक प्रभाव पड़ता हैं। सरकार को क्या करना चाहिए की तम्बाकू का उपयोग बिल्कुल बंद हो जाये। राज्ये सरकार को जहां गुटखे बनने वाली फैक्ट्रीया बंद करना चाहिए क्योंकि दुकानों पे रोक लगाने से कुछ नही होता है। यदि गुटखे बनने वाली फैक्ट्री ही बंद हो जाएगी तो दुकानों पे अपने आप बंद हो जायेगा यदि दुकानों पे गुटखे तम्बाकू का माल नही आयेगा तो अपने आप ही धीरे धीरे बंद हो जाएगा और जब दुकानो पे ही गुटखे नही मिलेंगे तो लोगो की लत अपने आप छुड़ जाएगी और धीरे धीरे केंसर जैसी घातक बीमारियों से निजात मिल जाएगा। प्लीज

भारत देश में आर्थिक तंगी से लड़कों की स्थिति कैसी हैं

       भारत देश में लड़कों की स्थिति कैसी हैं  हमारे देश में लड़कियों की स्थिति ही खराब नही हैं लड़को की स्थिति भी बहुत खराब चल रही हैं। आज हमारे देश में कई राज्य ऐसे है जहाँ लड़को की स्थिति भी खराब हैं। क्योकि कई परिवार की स्थिति ऐसी है जहां लड़के की पढ़ाई व घर में सही  प्रवरिश नही होने के कारण वो एक आर्थिक जिंदगी जीता है और वो सके छोटी सी उम्र में काम करने लग जाता है। और घर परिवार से दूर रेते हुवे भी परिवार का सही ढंग से लालन पालन नही कर सकता हैं। इतनी आर्थिक तंगी से रेता है कि बस पूरे दिन दिमाग में परिवार के बारे में सोचता रेता है। कई लड़के तो आर्थिक तंगी से आत्महत्या कर लेते हैं जिससे उसके घर परिवार का जीना ओर भी मुस्किल हो जाता हैं। आर्थिक स्थिति कैसे दूर की जा सकती है गरीब परिवार के बच्चों की जिससे वो शिकसित को गरीब परिवार के बच्चों को आर्थिक स्थिति से ऊपर लाने के लिऐ ऐसी योजना चलानी चाहिए जिससे वो अपनी पढ़ाई कर सके और उनके घर वाले भी उनको घर से बाहर कमाने के लिए नही पढ़ाई के लिए भेजें जिससे वो छोटी सी उम्र में अपनी लगन काम के बजाय कुछ पढ़ाई लिखाई में लगाये ओर उनके माँ-बाप का नाम रोशन कर ज

भारत देश में क्यो करता जा रहा है किसान आत्महत्या

        भारत देश में क्यो करता जा रहा है हर                         किसान आत्महत्या आज हमारे देश में बहुत ही किसान आत्महत्या करते जा रहे है। इसका क्या कारण हैं किस वजह से किसान आत्महत्या कर रहे है दिनों दिन आत्महत्या की समस्या बढ़ती जा रही है।  किसान खेती के कारण ओर भी कारणों से आत्महत्या कर रहे हैं। क्योकि आज हमारे देश मे बढ़ती बेरोजगारी बढ़ती मेगाई के कारण भी किसान आत्महत्या कर रहे है। हमारे देश में किसान को खेती करना बहुत ही मुश्किल हो गया हैं। ये नही की जमीन नही है जमीन है। पर कई समस्याएं है जिसके कारण खेती करना मुस्किल हो गया है।  इसका कारण यह है कि आज हमारे देश में ऐसे केमिकल मीले खाद आते है जिससे जमीन धीर-धीर बंजर होती जा रही है। जमीन का आँगन इतना कठोर होता जा रहा है। जिससे उसपे बोया हुई फसल अंकुरित नही होती है होती भी है तो अनाज पैदा नही होता है। आत्महत्या का मेन कारण  क्योकि किसान खेती करते है ओर कुवे भी खुदते है जिससे कि वो फसल को पानी दे सखे ओर आनाज प्राप्त कर सके। जिसके कारण वो अपनी जमीन पे लोन उठाते है। और फसल उगते है और उसमे खाद देते है लेकिन आज कल ऐसे खाद आ गए है जिससे कुछ

भारत देश में बढ़ती चोर डकैती

         भारत देश में बढ़ती चोर डकैती  आज हमारे देश में बहुत चोर डकैती हत्या लूट मार दिनों दिन बढ़ती जा रही हैं जिससे हमारे देश में एक डर सा बढ़ा रहता है हर मनुष्य के दिल और दिमाक में बस वो जंगल के रास्ते से अकेले जाता हुवा डरता है। अंधेरी रात को वो वीरान स्थान  से अकेले नही आता है। क्योंकि हर दिन रात लोगो की चोरी डकैती बढ़ती जा रही हैं। औरतों का तो घर से अकेले निकलना बहुत कठिन हो गया है। क्योकि आज हमारे देश मे रेप की भी समस्या बहुत भेंकर बढ़ चुकी हैं। कई राज्यों में तो चोरी डकैती लूट मार बलात्कार की समस्या दिनों- दिन बहुत बढ़ती जा रही हैं। चोरी- डकैती लूट मार बढ़ने का कारण आज हमारे देश मे मैन समस्या चोरी डकैती की ये हैं कि आज हमारे देश मे हर चीज माल समान के पैसे दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं। जिससे लोगो की आर्थिक स्तिथी बढ़ती जा रही हैं क्योंकि गरीब दिन रात काम करता हैं तब जाके उसे 250-300 रुपये मिलते हैं।  जिससे उसके परिवार का पालन-पोषण होता है।  जब उसके लड़के लड़कियों की शादी आती है तो वो इस तंगी को जेल नही पाता और आत्महत्या करने को मजबूर हो जाता हैं।  जब वो ही जो परिवार को पालने वाले ही आत्महत्य

भूमि बंजर क्यो होती जा रही हैं

भूमि बंजर क्यो होती जा रही हैं भारत देश में भूमि दिन प्रतिदिन बंजर होती जा रही हैं। हमारे देश की 50% से भी ज्यादा भूमि बंजर होती जा रही हैं। क्योकि प्राचीन काल में भूमि उपयोगी थी क्योंकि प्रचीन काल मे जो भी खाद उपयोग में लिया जाता था । वो गायो-भैसो का खाद होता था जिससे फसलों की काफी उनन्ति होती थी। और काफी मात्रा में धान होता था ओर जो भी सब्जी फल फूल होते थे वो सब बिना दवाइयों के पकाये जाते थे।लेकिन वर्तमान में जो भी अनाज ,फल,फूल, सब्जी जो भी उगाई जाती हैं सब दवाइयों से पकाई हुई आती हैं। फलों को बागो से कच्चे ही तोड़ लिए जाते है। और इनको केमिकल मिला के पकाया जाता है। ओर मार्केट में बेच दिया जाता हैं। इसी कारण आज हमारे देश मे इतनी बीमारी हो गई है। जिससे आदमियो बच्चे महिलाओं की र्मृत्यू.दर दिन प्रतिदिन बढ रही हैं। मेरी सरकार से गुजारिश हैं की जितने भी जानलेवा केमिकल है। उसपे रोक लगाए जिससे कई जाने बच सकती है। क्योंकि आज कल बहुत केमिकल ऐसे आये है मार्किट में जिससे मनुष्य को धीरे धीरे अंदर से खोखल करती जा रही हैं जिससे उनके कई प्रकार की बीमारियूओ से भुगतान पड़ रहा है।

परिवार के साथ रिश्ता कैसे बनाये रखे

परिवार के साथ रिश्ता कैसे बनाये रखे एक बुजुर्ग व्यक्ति था उसके 5 लड़के थे और 2 लड़कियां बुजर्ग की पत्नी बुर्जग ओर उसके लड़के लड़कियां सब खुशी से रेते थे सब में इतना प्यार था कि कोई भी एक दूसरे के बिना नही रेते ओर नही ही खाना खाते थे। धीर धीर लड़के लड़कियां की पढ़ाई पूरी हो गई 3 की सरकारी नोकरी लग गई ।बाकी 2 प्राईवेट जॉब करते थे खूब पैसे कमाते थे और कुछ दिनों बाद उस व्यक्ति ने 7 भाई बहनों की शादी कर दी और बटिया अपने ससुराल चली गई और बेटे अपनी पत्नियों को सपने साथ लेके चले गये। ओर धीर-धीर माँ-बाप से दूर होते गए और बस फोन पे बात होती और 2-3 साल से अपने माँ-बाप से मिलने आते थे ।   माँ -बाप का बेटे बेटा के प्रति प्यार माँ अपने लड़के लड़कियों को बहुत याद करती थी पर पिता को पता था।कि अब अपने लड़के लडकिया के दिल मे वो बचपन वाला प्यार नही है बस वो तो खुद अपनी परिवार में बिजी हो गए लेकिन माँ को बहुत याद आती थी माँ बोलती पर कुछ ना कुछ बायना बना लेते थे । बस एक दिन माँ ने उसके पति को बोला कि मुझे तो मेरे लड़को से मिलना है लेकिन पिता को पता था कि वो उसे अपने पास रखने के लिए राजी नहीं है तो पिता ने एक ऐसा लेटर

अमीर यक्ति की कहानी दिल को छूने वाली

अमीर यक्ति  की कहानी दिल छूने वाली  एक बार की बात है एक अमीर यक्ति था। अमीर यक्ति बहुत गमण्ड करता था अपने पैसो पे इतना गमण्ड था कि वो किसी भी यक्ति की इज्जत तक नही करता था। उसके इस गमण्ड से उसके घर वाले भी बहुत परेशान थे इतने परेशान थे कि कोई उससे ढंग से बात तक नही करते थे।वो भी बहुत गमण्डी था बस उसे पैसे के सिवा कुछ नही दिखता था।उसके कपड़े की मिल थी। जिसमे 50-60 मजदूर काम करते थे यदि कोई भी मजदूर छोटी सी भी गलती कर देता था तो उसकी बेइजती कर के बार निकाल देता था। मजदूरो के साथ अच्छा व्यवहार नही होने के कारण कई मजदूर काम छोड़ के जाते और आते रेते थे अमीर यक्ति की बर्बादी उसका गमण्ड के कारण उसकी मिल में बहुत मजदूर आते और जाते रेते थे ऐसे करते करते उसकी मिल से कपड़ा का माल कम होने लगा और एक दिन उसकी मिल में आग लग गई थी। जिससे उसे करोड़ो का नुकसान हो गया धीर धीर उसके हर काम मे बर्बादी होने लगी कुछ सालों बात उसकी ऐसी हालत हो गई कि वो एक एक पैसा का मुंह ताज हो गया । क्योकि अपने बुजर्गों का कहना है कि कभी जिंदगी में गमण्ड नही करना चाहिए। क्योकि पैसे आने और जाने में कभी टाइम नही लगता हैं। इसलिए यदि