Skip to main content

Posts

Showing posts from September, 2019

लड़का लड़की की प्रेम कहानी

             लड़का लड़की की प्रेम कहानी   एक लड़का लड़की थे।वह एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे। लड़का लड़की की दोस्ती एक कॉलेज में हुई थी।लड़का लड़की से बहुत प्यार करता था पर कभी कहने की हिम्मत नही हुई। लेकिन लड़की को पता था कि लड़का उसे फॉलो करता हैं उसके पीछे पीछे आता है।  लड़की भी उसे मन ही मन बहुत प्यार करती थी पर लड़की को कैंसर थी जिसके कारण वो डरती थी कि कई में इससे प्यार करो और इसका साथ जीवन भर नही दे शकु इस कारण  लड़की लड़के से सामने नजर तक नही मिलाती थी पर वो उससे बहुत प्यार करती उसे चुपके से देखती थी। लेकिन लड़का बहुत प्यार करने लग गया था।एक दिन लड़के ने उस लड़की को परफहोज किया लड़की ने मना कर दिया ना लड़की रात भर सोई ना लड़का सोया  लड़की लड़का दूसरे दिन कॉलेज आये लड़के ने फिर लड़की को नजर उठा के भी नही देखा लड़की उसे बस देखती  रही बार बार पर लड़का एक बार भी नही देखा लड़की से नही रहा गया और वो दोड़ के आई और लड़के को जोर से सीने के लगा लिया और फुट फुट के  रोई ओर अपनी कहानी उस लड़के को सुनाई लेकिन लड़का उस लड़की से बहुत प्यार करता था इसलिए वो उसी लड़की से शादी करना चाहता था। लड़के के घर वाले राजी नही थे लेकिन लड़

दो दोस्तों की कहानी दिल छूने वाली

         दो दोस्तों की कहानी दिल छूने वाली  एक गाँव में दो दोस्त थे एक दोस्त के पिता पुलिस की नोकरी में थानेदार की पोस्ट में थे। दूसरे दोस्त के पिता बहुत गरीब थे उसकी माँ उसे बचपन में ही छोड़ गई थी । उसकी माँ की डिलीवरी के समय डॉक्टर ने बोला कि माँ बेटे दोनो को खतरा है । लेकिन डिलेवरी के समय माँ की मौत हो जाती है लेकिन बच्चे का जीवन बच जाता है उसके पिता उसे बहुत प्यार से पाला था। कुछ दिन बात उसका एक दोस्त बन जाता है वो दोनों बचपन से ही साथ खेलते थे और एक साथ स्कूल में जाते थे। लेकिन जब उसका लड़का बड़ा हुआ और  कक्षा 8 में  आने के बाद वो गरीब किसान उसकी पढ़ाई नही करा पाया लेकिन उसके दोस्त ने उसके पिता को बोल कर सारा खर्चा उठाने को कहा तो वो पुलिस वाला  मान गया । लेकिन कुछ दिनों  बाद उस गरीब किसान की भी मौत हो जाती है । लेकिन वे दोनों की दोस्ती  बनी रेती है और वो दोनों एक साथ स्कूल जाते हैं और धीर धीर पढ़ कर वो किसान का लड़का नोकरी लग जाता हैं ।लेकिन बदकिस्मती के कारण वो पुलिस का लड़का नोकरी नही लग पाता है। एक दिन उसी का भी नम्बर आ जाता है और दोनो दोस्त गुमने के लिए कई बार जाते है तो उन दोनों दो

गरीब किसान की कहानी दिल को छूने वाली

गरीब किसान की कहानी दिल छूने वाली एक  किसान था उसके चार पुत्र थे। किसान की पत्नी हर रोज बीमार रहेती थी। उसके चारों पुत्र थे।वे बहुत छोटे थे सबसे बडा पुत्र 8 वर्ष का था और सबसे छोटा पुत्र 1 वर्ष का था । वो बहुत गरीब था उसके पास उसकी पत्नी के ईलाज के लिए पैसे नही थे । वे अपने परिवार के भरण -पोषण के लिए दिन- रात महेनत करता था। जिससे उसके परिवार का खर्चा चलता था। वो अपनी पत्नी के दवाई के पैसे के लिए रात को ओर मसजदूरी करता था।  एक दिन उसकी पत्नी बहुत बीमार हो गई थी। वो किसान उसकी पत्नी को govt अस्पताल में लेके गया था।  लेकिन  जब उसका चेकब किया गया था।  तो उसके पेट में गाठ थी। फिर पता चला कि ये एक केंसर की गाठ है।  तो डॉक्टर ने उसके पति को ऑपरेशन रूम में बुलाया और बोला कि आपकी  पत्नी नहीं बच सकती हैं।  यदि आप इसको बचाना चाहते हो तो चार लाख रूपये लगेंगें ऑपरेशन के वो गरीब किसान था। जिसके पास खाने के लिए भी बहुत महेनत करता था । और उसके चार पुत्र भी थे। इतना पैसा वो कहा से लेके आये और कुछ दिन बात उसकी पत्नी की मत्यु हो जाती हैं। वो किसान बहुत रोता हैं और कैसे भी करके उसके पुत्रों का लालन पालन क

चाय के प्लास्टिक कप से कैंसर का खतरा

       चाय के प्लास्टिक कप से कैंसर का खतरा     30 वर्षीय लड़के को केन्सर हुआ था जो लास्ट स्टेज पर था! अपनीअब तक की उम्र में इन्होने ना तो कभी गुटका,ना ही सिगरेट और नही पान व शराब का सेवन किया था,समय पर काम पर जाना,परिवार के साथ खुश रहना, उसका जीवन था, ना कोई  बिमारी थी ना ही कोई चिन्ता!       *सिर्फ 2/3दिन से पेट में दर्द शुरू होने के कारण डॉ, से सम्पर्क कर ईलाज शुरू किया, परन्तु  कोई फायदा ना होने के कारण बडे डॉ से मिले,वहां के डॉ ने उनकी सभी रिपोर्ट निकलवाई तो पता चला कि पेट के आंतड़ेियों में केन्सर हुआ है!     डॉ द्वारा ईलाज की शुरूआत हुई,ईलाज दरम्यान पुरी जमा पूंजी के साथ  घर -बार बिक गया,परन्तु परिणाम स्वरूप उनकी मोत ही हुई! डॉ, ने परिवार से इनका अग्नि संस्कार ना कर,मानव सेवार्थ बोडी पर रिर्सज करने हेतु हॉस्पीटल मे डोनेट करने की सलाह दी, परिवार में आपसी मंथने के बाद बोडी को हॉस्पीटल में रिर्सज करने हेतु ,डोनेट करने का निर्णय लेते हुए बोडी को हॉस्पीटल में डोनेट की!      रिर्सज के बाद पता चला कि प्लास्टिक में गरम खाना खाने से, उसमें से निकलने वाले केमिकल के कारण इन्हें केन्सर हुआ था

बुढ़िया माँ की कहानी दिल छूने वाली बात

बुढ़िया माँ की कहानी दिल छूने वाली बात 1एक बुढ़िया थी उसके चार पुत्र थे  चारो की शादी हो गई थी     चारो ही अपनी -अपनी पत्नियों को लेके गांव छोड़ के शहर चले गये थे । बूढ़ी माँ को अकेले छोड़ दिये थे। 2 उससे कोई मिलने नही आता था वे अपना गुजारा अपनी पेंशन  व कुछ जमी थी जो उसके पति ने उसके लिए ले रखी थी । जिससे वे अपना गुजारा करती थी । 3 एक दिन उसके चारों लड़के आये और माँ से प्यार से बात की थी क्योंकि माँ  को पता था कि क्यो आये पर माँ की ममता थी । उन्होंने प्यार से जमी के कागज अपने नाम कराके उसे चंद पैसो के लिए बेच दी और वापस शहर चले गए थे। 4 माँ यह सदमा सहन नहीं कर पाई और बीमार हो गई थी और कुछ दिनों बाद चल बसी गांव के लोगो ने उसके लड़को को फोन किया और बुलाया । उसके लड़को ने उसका  अंतिम संस्कार किया और कुछ दिनों में वापस चले गए थे। माँ के लिए दो लाईन लिखता हूं उस माँ के दिल का दर्द जान के = क्या  थी में क्या बना दिया चंद  पैसों के लिए तूने मेरा जीते जी दिल  बेच दिया पाला था मैंने तुमको 9 महीने  अपनी खोख में ओर तुम कुछ साल के लिए मुझे बदनसीब बना दिया । चली थी में पैदल तुमको अपनी खोख में लेके सोची थ